सच

“सच अगर सच्चा है, तो उसे चीखना क्यों पड़ता है।”Ps pooja बेजुबान शब्द आपके इस पोस्ट पर मेरे कुछ विचार। इसको हम अपने समझ से शेयर कर रहे हैंसब के सोचने का नजरिया अलग हो सकता है।सच में हम इसको ऐसे समझ सकते है ।सच की उम्र कितनी है?अगर सच बच्चा है तो उसे चीखनाContinue reading “सच”

छायावाद

हिंदी में छायावाद हिंदी के विकास के क्रम में छायावाद का विकास द्विवेदी जी के कविता के पश्चात हुआ। अगर मोटे तौर पर देखे तो छायावादी काव्य की सीमा 1928 ई. से 1996 ई.तक मानी जा सकती है। छाया वाद के संदर्भ में आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने कहा है , ” छायावाद शब्द का अर्थContinue reading “छायावाद”

सावधान आप सड़क पर हैं।

सावधानी हटी दुर्घटना घटी। या ये कहें नजरे हटी दुर्घटना घटी। सड़क पर चलते समय केवल आपका ठीक होना मायने नहीं रखता, आप यातायात के नियमों का पालन करते हैं,लेकिन आपने सावधानी नहीं बरती,या नजरे बराबर नहीं रखी तोदुर्घटना स्वाभाविक रूप से होगी। क्योंकि केवल आपका नियमों का पालन करना,आपको दुर्घटना से बचा नहीं सकता,Continue reading “सावधान आप सड़क पर हैं।”