पिंजरा

बंद पिंजरा तोड़ के पंछी ,
उड़ जायेगा सब कुछ छोड़ के।


ना तेरा ना मेरा ,ना ही रेनबसेरा,
सारे रिश्ते नाते तोड़ के पंछी,

उड़ जायेगा सब कुछ छोड़ के ।


ना कोई राजा ना कोई रानी ,
जीवन की है यही कहानी,


तुमको यहीं पर छोड़ के पंछी
उड़ जायेगा सब कुछ छोड़ के।


तिनका – तिनका जोड़ के महल बनाया,
रिश्तों नातों से सजाया,


सारी दुनिया छोड़ के पंछी,
उड़ जायेगा सब कुछ छोड़ के।

बंद पिंजरा तोड़ के पंछी ,
    उड़ जायेगा सब कुछ छोड़ के।

Published by मनवीर

मैं रीडर और थिंकर हूं धन्यवाद

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: