चुटकुले

मैं घंटे भर से तुम्हे समझा रहा हूं और तुम्हारी समझ में बात नहीं आ रही है! तुम्हारे दिमाग में गोबर भरा है।
जब आपको पता है तो उसे घंटे भर से चाट क्यों रहे है?

पिता अपने बच्चे से – बेटा तुम्हे कितनी बार समझाया है कि वह सचमुच का शेर नहीं तस्वीर है तो फिर घबराते क्यों हो?
बच्चा – मैं घबराया नहीं पिताजी… पर मुझे यह चिंता बनी रहती है कि वह बेचारा भूखा होगा।

बच्चे अपने मम्मी से – मम्मी में बंदर देखने चिड़ियाघर जाऊं?
मम्मी – बड़ा बेवकूफ हो, घर में मौसी के नटखट बच्चे आये हैं ।
और तू बंदर देखने चिड़ियाघर जा रहा है।

एक बार दो बच्चों में आपस में झगड़ा हो गया।
छोटा बच्चा गुस्से में बोला – देख तू अपने शब्द वापस लो ,
मैं तुम्हे पांच मिनट का समय देता हूं।
बड़े लड़के ने कहा – अगर मैं पांच मिनट में अपने शब्द वापस ना लूं तो, तो ?

कुछ देर विचार करने के बाद
छोटा लड़का बोला – अच्छा , तो तुम्हे कितना समय चाहिए?

पत्नी ने अपने पति से पूछा – क्यों जी नाव को स्त्रीलिंग ही क्यों माना गया है?
पति – क्योंकि वह हवा के साथ अपना रुख बदलती है।

एक आदमी ने एक कुत्ता खरीदा और कुत्ते के मालिक से पूछा – यह कुत्ता वफादार तो होगा ही!
मालिक – यह अव्वल दर्जे का वफादार है, क्योंकि इसको मैंने इसे तीन बार बेचा है और यह तीनों बार भागकर मेरे पास चला आया।

मालिक- मैं पहले ही बता दूं की मुझे एक जिम्मेदार नौकर चाहिए।
नया नौकर – साहब मैं बहुत जिम्मेदार हूं, इससे पहले मैंने जहां भी काम किया, गलती किसी की भी हो , जिम्मेदार मैं ही ठहराया जाता था।

एक सज्जन अपने पड़ोसी के घर गए और बोले – देखिए आपके लड़के ने मेरे कमरे का शीशा पत्थर मारकर तोड़ दिया।
पड़ोसी – आप उसके बातों पर ध्यान मत दीजिए, वह पागल है।
सज्जन आदमी – तो फिर अपने घर के शीशे क्यों नहीं तोड़ता?
पड़ोसी – लेकिन इतना पागल नहीं।

Published by मनवीर

मैं रीडर और थिंकर हूं धन्यवाद

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: